Friday, March 25, 2011

फायदे का सौदा

फायदे का सौदा


दूसरा विश्व युद्ध सितंबर 1939 में प्रारंभ हुआ था, हालांकि अमेरिका ने लंबे समय तक युद्ध से दूरी बनाए रखी। लेकिन 7 दिसंबर 1941 को जापान की हवाई सेना द्वारा पर्ल हार्बर पर हमला करने के बाद अमेरिका भी युद्ध में मित्र राष्ट्रों का साथी बन गया। वर्ष 1942 में समूचा ब्रिटेन और खासतौर पर लंदन अमेरिकी सैनिकों की पदचापों से गूंज रहा था। ब्रिटेन की अनेक लड़कियों ने अपने पुराने प्रेमियों को अलविदा कह दिया और अमेरिकी जवानों से दोस्ती गांठ ली, जिनकी जेबें डॉलरों और बेहतरीन ब्रांड की सिगरेटों से भरी हुई थीं। एक दिन एक अमेरिकी सैनिक को एक अंग्रेज लड़की नजर आई, जो सड़क के दूसरी तरफ तेज कदमों से चली जा रही थी। वह खुद को रोक न पाया और जबर्दस्ती उसका चुंबन ले लिया। लेकिन वह अन्य अंग्रेज लड़कियों की तरह नहीं थी।



उसने जवान की इस हरकत की शिकायत पुलिस में कर दी और उसे अगले दिन लंदन की अदालत में पेश होना पड़ा। लड़की की शिकायत सुनने के बाद जज ने अमेरिकी सैनिक पर पांच पाउंड का जुर्माना लगा दिया। लेकिन उसकी जेब की तलाशी लिए जाने पर उसके पास से केवल दस पाउंड का एक नोट ही बरामद हुआ। उसने वह नोट निकालकर अदालत की मेज पर रख दिया। उसने देखा कि कोर्ट क्लर्क के पास उसे लौटाने के लिए खुल्ले पैसे नहीं थे। उसने आव देखा न ताव, उस लड़की का एक बार फिर चुंबन लिया और खुशी-खुशी बाहर चला गया। लड़की हक्का-बक्का रह गई। 23 साल के उस नौजवान सैनिक ने अपनी पूरी जिंदगी में इससे बेहतर सौदा कोई दूसरा नहीं किया था।



2 comments:

  1. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा , हिंदी ब्लॉग लेखन को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा आपका प्रयास सार्थक है. निश्चित रूप से आप हिंदी लेखन को नया आयाम देंगे.
    हिंदी ब्लॉग लेखको को संगठित करने व हिंदी को बढ़ावा देने के लिए "भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" की stha आप हमारे ब्लॉग पर भी आयें. यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "फालोवर" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . हम आपकी प्रतीक्षा करेंगे ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    डंके की चोट पर

    ReplyDelete
  2. शुभागमन...!
    कामना है कि आप ब्लागलेखन के इस क्षेत्र में अधिकतम उंचाईयां हासिल कर सकें । अपने इस प्रयास में सफलता के लिये आप हिन्दी के दूसरे ब्लाग्स भी देखें और अच्छा लगने पर उन्हें फालो भी करें । आप जितने अधिक ब्लाग्स को फालो करेंगे आपके ब्लाग्स पर भी फालोअर्स की संख्या उसी अनुपात में बढ सकेगी । प्राथमिक तौर पर मैं आपको 'नजरिया' ब्लाग की लिंक नीचे दे रहा हूँ, किसी भी नये हिन्दीभाषी ब्लागर्स के लिये इस ब्लाग पर आपको जितनी अधिक व प्रमाणिक जानकारी इसके अब तक के लेखों में एक ही स्थान पर मिल सकती है उतनी अन्यत्र शायद कहीं नहीं । प्रमाण के लिये आप नीचे की लिंक पर मौजूद इस ब्लाग के दि. 18-2-2011 को प्रकाशित आलेख "नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव" का माउस क्लिक द्वारा चटका लगाकर अवलोकन अवश्य करें, इसपर अपनी टिप्पणीरुपी राय भी दें और आगे भी स्वयं के ब्लाग के लिये उपयोगी अन्य जानकारियों के लिये इसे फालो भी करें । आपको निश्चय ही अच्छे परिणाम मिलेंगे । पुनः शुभकामनाओं सहित...

    नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव.

    दूर रहें इस सोच से - मुझसे नहीं होगा !

    ReplyDelete